चेन्नई के वेलूर में चल रहा इलाज, बोनमोरो ट्रांसप्लांट के बाद ही मिलेगी जिंदगी

उपनगर में रहने वाली छात्रा पिछले दो माह से जिंदगी व मौत की जंग लड़ रही है गंभीर बीमारी से पीडि़त छात्रा के परिजनों की आर्थिक स्थिति इतनी मजबूत नहीं है कि वो अपनी बेटी व बहन को इस गंभीर बीमारी से छुटकारा दिला सके। इसके लिए परिवार ने सभी से सहयोग की अपील की है ताकि छात्रा को जिंदगी मिल सकें इसके लिए परिवार ने सभी से सहयोग की अपील की है ताकि छात्रा को जिंदगी मिल सके मदद के लिए कुछ सामाजिक संस्थायें आगे भी आई है।

नगर प्रतिनिधि,संतनगर : उपनगर के सीआरपी क्षेत्र में रहने वाली 23 वर्षीय छात्रा दीक्षा होतचंदानी को 2 वर्ष पूर्व कैंसर जैसी गंभीर की जानकारी लगी थी जिसका इलाज करवाया गया था। उस दौरान गंभीर बीमारी से छुटकारा मिला था पर डाक्टरों ने ५ साल के अंदर अगर यह बीमारी फिर लौटी तो फिर स्थिति गंभीर हो सकती है इसके लिए पहले ही अलर्ट किया था और वैसा ही हुआ भी १ नवंबर को छात्रा को जब बुखार आया तो इस दौरान फिर पता लगा कि कैंसर नामक बीमारी ने फिर दस्तक दी है।

डाक्टरों द्वारा फिर कीमोथेरेपी से किया गया। डाक्टरों ने क हा कि अब कीमोथेरेपी से भी सुधार होना मुश्किल है क्योंकि छात्रा के बोनमोरो तक गंभीर बीमारी पहुंच चुकी है ऐसे में इसका उपचार सीएनसी वेलूर चेन्नई में ही इसका इलाज संभव है और छात्रा को जिंदगी अब बोनमोरो ट्रांसप्लांट से ही मिलना संभव है बोनमोरो देने के लिए दोनों भाई हितेश व रवि तैयार है दोनों भाई प्राइवेट नौकरी करते है और पिता का ३ वर्ष पूर्व निधन हो गया है अभी छात्रा दीक्षा वेलूर में भर्ती है जहां पर उसकी मां साथ है इस हालत में देख मां का रो रो कर बुरा हाल है दो माह से छात्रा जिंदगी व मौत की जंग लड़ रही है।

50 लाख तक का आयेगा खर्च

अस्पताल के चिकित्सकों ने कुल 50 लाख का खर्चा बताया है इसमें 12 लाख कीमोथेरेपी का कोटेशन दिया है कीमोथेरेपी के बाद ही बोनमेरा ट्रांप्लांट का आपरेंशन होगा। ट्रांसप्लांट के लिए 35 से 40 लाख का खर्चा आयेगा। इतने पैसों की व्यवस्था करना बहुत मुश्किल है पर नामुमकिन नहीं है इसलिए दोनों भाई व अन्य साथी हर जगह जाकर मदद की गुहार लगा रहे है बहन को बचाने के लिए सुबह से रात तक लोगों से भांई संपर्क कर रहे है। इसके लिए सिंधु सेना भोपाल व यंग जनरेशन सेवा समिति ने मदद के लिए कदम बढ़ाये है। अगर सभी मिलकर प्रयास करेंगे तो समाज की बेटी व बहन को नई जिंदगी मिल जायेगी। भाई हितेश होतचंदानी ने मदद की अपील की है। अगर जो मदद करना चाहते तो वो मो. 9755164230 पर संपर्क कर सकता है आपरेशन जितना जल्दी होगा उतनी जल्दी ही स्वास्थ्य में सुधार होगा।

युवाओं ने ठाना है बहन को बचाना है

उपनगर के युवाओं के अलावा भोपाल में रहने वाले समाज के युवाओं ने भी मदद की अपील की है सभी युवा अपने स्तर पर भी मदद कर रहे है और दूसरों की मदद की अपील कर रहे है अब युवाओं ने ठाना है बहन दीक्षा को बचाने का संदेश दे रहे है साथ ही यह भी कहा है कि सब के सहयोग से बचेगी हमारी बहन की जान।