नगर प्रतिनिधि,संतनगर : सिन्धी युवाओं की नृत्य एवं गायन प्रतिभा को मंच प्रदान करने वाला प्रतिष्ठित आयेाजन ‘सिन्धु आइडल’ रविवार को रवीन्द्र भवन में स२पन्न हुआ। इस आयोजन में जबलपुर, इन्दौर, सतना, खण्डवा, मैहर, दतिया, रीवा आदि शहरों से चयनित 25 प्रतिभागियों ने नृत्य एवं गायन में रंगारंग प्रस्तुतियां देकर दर्शकी का मन मोह लिया। उल्लेखनीय है कि सिंधी साहित्य अकादमी के इस लोक प्रिय कार्यक्रम का यह सातवां वर्ष था। इन्दौर के अभय आहूजा ने (जूनियर गु्रप) मास्तर चन्द्र का लोक प्रिय गीत ‘रुठा ही रहिन शल हुजेन हयाति’ प्रस्तुत किया एवं इन्दौर की ही कीर्ति आहूजा (सीनियर गु्रप) ने ‘मुंजा यार मिठा मुखा थी न परे’ एवं भोपाल की नम्रता थावानी (सीनियर गु्रप) ने सिन्धी समाज के ईष्ट देव झूलेलाल वन्दना गीत ”दुलह दरिया शाह तूं आहीं एवं भोपाल के रोहित नाथानी (बाटू) ने पैसो लधो पटतां फ्यूजन गीतों पर नृत्य कर उपस्थित जन समूह का मन मोह लिया। निर्णायक पैनल में श्रीमती मुक्ता चन्दानी, सुश्री नित्या तलरेजा, सुश्री नेहा ईदनानी, दिलीप लालवानी एवं नरेश गिदवानी शामिल थे। विजेता रही गायन में जबलपुर की जिया नोतनानी एवं नृत्य में भोपालकी नम्रता थावानी। विजेताओं को ”सिंधु आइडल” सम्मान के साथ नगद पुरस्कार के अलावा ट्राफी एवं आकर्षक उपहार से सम्मानित किया गया। सभी प्रतिभागियों को अकादमी की ओर से आकर्षक उपहार प्रदान किये गये। इस अवसर पर स्वागत संबोधन देते हुए सिन्धी अकादमी के निदेषक राजेन्द्र प्रेमचन्दानी ने अकादमी के द्वारा किये जा रहे कार्यक्रमों का विस्तार से वर्णन किया तथा रमेश सुखरामानी के साथ ही आयोजन के मुख्य मेहमान मनोहर ममतानी, माननीय सदस्य मानव अधिकार आयोग एवं विजय भागवानी सहायक पुलिस महानिरीक्षक ने भी संबोधित किया। इस अवसर डॉ. परमानन्द राजानी, विश२भर राजदेव, एन.एम. पुरसवानी, जयकिशन लालचन्दानी, साबू रीझवानी, राजेन्द्र मनवानी, नितेश लाल, कमल मनसुखानी आदि सिन्धी समाज के गणमान्य नागरिकों के साथ बड़ी संख्या में सिन्धी समाज के रसिक श्रोता उपस्थित थे। नम्रता थावानी जो कि किशोर थावानी की पुत्री है नम्रता ने सिंधु आइडल का खिताब जीतकर संतनगर का नाम रोशन किया है।