नगर प्रतिनिधि, संतनगर
राजधानी सहित उपनगर में भी भगवान भोलेनाथ का शिवरात्रि पर्व दो दिन तक मनाया जाएगा। इस दौरान शिवभक्त भगवान शिवशंकर व पार्वती की भक्ति में डूबे नजर आएंगे। उपनगर में मंगलवार को महाशिवरात्रि को पर्व धूमधाम से मनाया गया। अल्प सुबह से ही शहर के विभिन्न शिवालयों में हर हर महादेव की गूंज सुनाई दी। मंदिरो में पहुंचकर शिवभक्तों ने भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक कर पूजा अर्चना की गई। भक्तों ने मंदिरो में पहुंचकर भगवान की भक्ति की। इस दौरान भगवान शिव का दुध अभिषेक के अलावा जल अभिषेक, बल्ल पतरी, हार फूल सहित दीप जलाकर आरती उतारी। सुबह से ही श्रद्धालुओं के मंदिर आने का जो सिलसिला शुरू हुआ वो देर रात तक जारी था मंगलवार को शिवरात्रि होने से भगवान शिव के साथ साथ पवनपुत्र हनुमान की भी पूजा अर्चना की। दिनभर शिवभक्त भोलेनाथ की भक्ति में लीन रहे। महाशिवरात्रि पर भगवान का अभिषेक भी हुआ। कई धार्मिक आयोजनों से संपूर्ण संतनगर धार्मिकमय नजर आया। प्रमुख रूप से गोल चक्रा चौराहे पर स्थित शिव मंदिर में भक्तों की भीड़ रही। इसके अलावा स्टेशन रोड स्थित शिव मंदिर में दो दिवसीय मेले के दौरान सिंधी भगत देर रात्रि तक चली। इसके बाद शिवरात्रि पर भगवान भोलेनाथ का अभिषेक के बाद पूजा अर्चना व आम भंडारे का आयोजन किया गया। रात्रि को सिंधी भगत का सिलसिला भी जारी रहा। गिदवानी पार्क स्थित शिव मंदिर पर भी शिवरात्रि पर्व पर भंडारे का आयोजन हुआ। सुख सागर दरबार में भी बाबा रामदास उदासीन के सानिध्य में शिवरात्रि का पर्व मनाया गया। यहंा पर चल रही अखंड धुन हरि ओम नम: शिवाय की धुनी का भी समापन हुआ बाबा रामदास ने भगवान शिव की महिमा पर भी प्रकाश डाला। मुख्य मार्ग पर सदा शिव समिति द्वारा इस वर्ष भी बर्फानी के दर्शन करवायें गए अन्य स्थान पर भी बाबा बर्फानी की स्थापना की गई। उपनगर के अधिकांश मंदिरो में मंगलवार को शिवरात्रि मनाई गई।
निरंकारी मंडल मार्ग पर स्थित जय महाकालेश्वर शिव मंदिर का कायाकल्प किया गया। शिवरात्रि के अवसर पर शिवलिंग व माता नंदी की प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा कर स्थापना की गई। रात्रि को ४ घंटे तक पंडित द्वारा विधि विधान से पूजा अर्चना करवाकर स्थापना करवाई गई। रात्रि को स्थापना पश्चात हवन पूजन किया गया। शिवरात्रि पर भी भोलेनाथ की पूजा कर प्रसाद वितरण व भंडारे का आयोजन किया गया। पिछले एक माह से मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा था। जो शिवरात्रि से एक दिन पहले पूरा हुआ। इस दौरान प्रमुख रूप से कन्हैया नाथानी, जेकी केवलानी, भगवानो झुरानी, शिप्पी चंादवानी, प्रकाश रूधवानी, पप्पू चांदवानी, हेमंत, नरेश चांदवानी, महेश चांदवानी, राजु आडवानी, सोनू हरचंदानी, डगली चांदवानी सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।