भोपाल (नगर प्रतिनिधि) : मध्य प्रदेश में चुनाव की तिथि जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, टिकट दावेदारों की भी संख्या भी उसी क्रम में बढ़ती जा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने कुछ दिन पहले जहां अपनी दावेदारी पेश की थी, वहीं इसमें अब एक और नाम जुड़ गया है। पूर्व मंत्री सरताज सिंह ने भी टिकट को लेकर दावेदारी पेश कर दी है।

भोपाल स्थित भाजपा प्रदेश कार्यालय पहुंचे सरताज सिंह ने 70 के फार्मूले पर सवाल उठाते हुए कहा कि 70 का फार्मूला न पहले था न इस बार होना चाहिए। पार्टी सर्वे में मेरा नाम है, इसलिए मुझे टिकट मिलना चाहिए, मैं चुनाव लडऩे को तैयार हूं। उल्लेखनीय है कि सरताज सिंह भाजपा के दिग्गज नेता रहे हैं। वह केंद्र में मंत्री भी रह चुके हैं। इसके अलावा वह शिवराज सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। हालांकि हाल के दिनों में वे अपने भाजपा विरोधी बयानों के कारण सुखिऱ्यों में पार्टी फ्रंट पर लगातार आलोचना का शिकार होते रहे हैं। पिछली बार वे तब चर्चा में आए थे, जब उन्होंने कहा था कि मध्य प्रदेश के सरकारी विभागों में बिना घूस दिए कोई काम नहीं होता।अपने बयानों और अपनी ही पार्टी पर लगातार निशाना साधने वाले मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने भी टिकट की दावेदारी पेश कर दी है। 88 साल के बाबूलाल गौर भोपाल के गोविंदपुरा क्षेत्र से विधायक हैं।

वह क्षेत्र में रायशुमारी के लिए आयोजित पार्टी की बैठक में दावेदारी करने पहुंच गए। इस दौरान उन्होंने कहा कि दावेदारी का पूरा हक सभी को है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अंतिम निर्णय पार्टी ही करेगी। भाजपा सूत्रों के अनुसार एक नवंबर को उम्मीदवारों की सूची जारी हो सकती है। दिल्ली में होने वाली केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में दावेदारों के नामों पर अंतिम मुहर लगेगी।