मुंबई। रानी मुखर्जी इस साल मार्च में फिल्म ‘हिचकी’ से कमबैक करने जा रही हैं। उनकी फिल्म हिचकी को लेकर वे लगातार प्रमोशनल एक्टिविटी में व्यस्त हैं। हाल ही में वो इंटरनेशनल वुमंस कॉन्फ्रेंस में शामिल हुई जहां श्री श्री रविशंकर भी मौजूद थे। यहां उन्होंने समाज की हिचकी को दूर करने के बारे में बातचीत की।

रानी मुखर्जी ने कहा कि, अच्छा लीडर बनने के लिए वीकनेस को स्ट्रेंथ में बदलना होता है। जो भी हिचकी मतलब परेशानियां चैलेंज के रूप में आती हैं उन्हें एक्सेप्ट करके काम करना होता है। तभी अच्छी लीडरशिप से सबका फायदा होता है। बतौर आर्टिस्ट हम खुशनसीब हैं कि फिल्मों के जरिए हम लोगों तक पहुंच पाते हैं। रानी ने यह भी कहा कि, परेशानियों को दूर करने के लिए पॉजीटिव थिंकिंग बहुत जरूरी है। रानी ने इस मौके पर श्री श्री रविशंकर के बारे में बोलते हुए कहा कि, गुरुजी को देखकर हम सबको मोटिवेशन मिलता है कि हम और अच्छा कार्य करें।

गौरतलब है कि रानी मुखर्जी फिल्म ‘हिचकी’ के माध्यम से फिल्मों में कमबैक कर रही हैं। इस फिल्म में वह एक स्कूल टीचर की भूमिका निभा रही है जो कि हकलाती है और उन्हें ऐसे बच्चों को पढ़ाने का अवसर मिलता है जो शिक्षा के अधिकार के चलते बड़े स्कूल में दाखिला पा जाते है लेकिन वह गरीब घर से होते है। फिल्म ‘हिचकी’ का निर्देशन सिद्धार्थ पी मल्होत्रा ने किया है जो कि 23 मार्च को रिलीज होगी।

आपको बता दें कि, रानी मुखर्जी लंबे ब्रेक के बाद हिचकी फिल्म से वापसी कर रही हैं। रानी ने बेबी अदिरा के लिए यह ब्रेक लिया था और रानी कहती हैं कि उनकी चलती तो वह अभी और लम्बा ब्रेक लेतीं। चूंकि उन्हें अभी अदिरा की सारी जिम्मेदारी संभालना ही पसंद है। लेकिन आदित्य चोपड़ा की वजह से रानी ने एक बार फिर से वापसी की।  में उन्होंने बताया था कि आदित्य चोपड़ा ने उन्हें बार-बार प्रोत्साहित किया कि अब उन्हें फिल्मों में वापसी कर लेनी चाहिए।