डागा घूम रहे गली-गली, भाजपा के बागी कांग्रेस को देंगे समर्थन

हुजूर पर त्रिकोणीय मुकाबला चुनाव को रोचक बना सकते है

राजनैतिक प्रतिनिधि,संतनगर : भोपाल की सातो विधानसभा सीटों में से एक हुजूर सीट जो की भाजपा के लिए सुरक्षित सीट मानी जाती है जहां वर्षो से भाजपा पार्टी का ही कब्जा बना हुआ है ऐसे में इस सीट पर विजय हासिल करना कांग्रेस के लिए इस बार भी आसान नहीं होगा जीत हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत है इसके लिए कांग्रेस के पास कई मुद्दे भी मौजूद है आगामी 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर जहां भाजपा ने विधायक रामेश्वर शर्मा को दूसरी बार यहां से मौका दिया है जो काफी मजबूत है और क्षेत्र में सक्रिय है वहीं इनके मुकाबले में कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता नरेश ज्ञानचंदानी को मौका देकर सिंधी समाज की मांग पूरी की है जिन्हें भाजपा कमजोर उम्मीदवार मान रही है जबकि नरेश ज्ञानचंदानी जो कई सालों से राजनीति कर रहे है उन्हें हर बात की जानकारी व अनुभव अभी से ही नजर आ रहा है वो सभी को साथ लेकर चुनाव मैदान में जा रहे है इसके अलावा हुजूर सीट पर पूर्व विधायक रहे जीतेन्द्र डागा जिन्हे पार्टी से टिकट नहीं मिला है और जनता से मिल रहे समर्थन व समर्थकों की इच्छा के चलते निर्दलीय फार्म जमा किया है चुनाव लड़ेंगे या नहीं इसको लेकर अभी भी संशय बना हुआ है चुनाव लड़े या नहीं पर डागा ग्रामीण क्षेत्रों में गली गली घूमते नजर आ रहे है और समर्थकों के बीच जाकर चर्चा भी कर रहे है जनता एक बार फिर डागा की चुनाव मैदान में देखना चाहती है इस पर डागा गंभीरता से सोच विचार कर रहे है अगर डागा निर्दलीय चुनाव लड़ते है तो हुजूर पर रोचक मुकाबला हो सकता है या यह क हे कि त्रिकोणीय मुकाबला होगा इस पर सबकी नजरें टिकी हुई है अगर ऐसा होता है तो भाजपा जो जीत आसान समझ रही है उसका टेंशन बढ़ सकता है।

मीणा आज थामेंगे कांग्रेस का दामन

भाजपा से बागी नेता कोलर के श्याम सिंह मीणा आज कांगे्रस पार्टी का दामन संभालने जा रहे है और कांग्रेस के प्रत्याशी नरेश ज्ञानचंदानी का समर्थन करेंगे रविवार को आयोजित एक कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की मौजूदगी में हजारों कार्यकर्ताओं के साथ कांगे्रस की सदस्यता लेंगे श्याम सिंह मीणा की पत्नी वर्तमान में कोलार के वार्ड क्र – 83 से पार्षद और जोन अध्यक्ष है वार्ड व कोलार में श्याम सिंह मीणा की अच्छी पकड़ है जिसका लाभ नरेश ज्ञानचंदानी को मिलेगा। यह भी भाजपा के लिए चिंता की बात है श्याम सिहं  मीणा ने भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में फार्म जमा किया है सूत्र बताते है कि श्याम सिंह मीणा की कांग्रेस में एंट्री करने में पार्षद मंजीत मारण व अशोक मारण की अहम भूमिका है।

शर्मा ने किया प्रचार, नरेश ने ली बैठक

विधानसभा चुनाव में अब कम ही दिन शेष रह गए है ऐसे में दोनो ही प्रमुख पार्टियों के प्रत्याशी जनसंपर्क में कोई कमी नहीं छोडऩा चाह रहे है भाजपा के रामेश्वर शर्मा ने शनिवार को विदिशा रोड पर जनसंपर्क किया इस दौरान ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा कालोनियों में भी जनता से आशीर्वाद लेने पहुंचे इस दौरान कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ साथ चल रही थी वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस प्रत्याशी नरेश ज्ञानचंदानी ने मंडलम अध्यक्ष व कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रणनीति बनाई और जिम्मेदारियां सौंपी गई बैठक में वरिष्ठ नेताओं के अलावा कई कार्यकर्ता शामिल थे भारी भीड़ देख कई लोगो को यह बात हजम नहीं हुई।