फरियादिया को लिवइन में रख सालों उसकी आबरू को तार-तार किया

भोपाल(अपराध संवाददाता) : पुलिस के अनुसार 29 वर्षीय पीडि़ता मूलत: सुहागपुर शहडोल की रहने वाली है। वह 2007 से कुछ दिन पूर्व तक भोपाल में स्थित सोनागीरी इलाके में रह रही थी। यहीं एक निजी कॉलेज से उसने ग्रेजुएशन किया फिर यहीं से मास्टर्स डिग्री ली और एक निजी कंपनी में नौकरी की। वर्ष 2008 में उसकी मुलाकात एक परिचित के जरिये आरोपी लोकेश कतरे पिता दशरथलाल कतरे (31) से हुई थी। आरोपी मूलरूप से बालाघाट का निवासी है। हालांकि उस समय लोकेश यहीं रहता था। साल 2008 में आरोपी ने पीडि़ता को महाकाल दर्शन के लिए साथ में उज्जैन चलने का प्रस्ताव दिया था। पीडि़ता उसके साथ में उज्जैन चली गई। वहां बदमाश ने पहली बार उसके साथ ज्यादती की थी। इसके बाद दोनों भोपाल आए तो आरोपी ने भरोसा दिलाने के लिए आर्य समाज के मंदिर में लड़की से शादी कर ली और दोनों पति-पत्नी की तरह एक साथ रहने लगे।

हवस का शिकार बनाने के लिए एक जालसाज ने भोपाल में पढ़ाई के दौरान एक छात्रा को प्रेम जाल में फांस लिया। आरोपी ने पीडि़ता से जिस्मानी संबंध बनाने के लिए आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली। इसके बाद फरियादिया को लिवइन में रख सालों उसकी आबरू को तार-तार किया। जब पढ़ाई खत्म हो गई तो आरोपी अपने घर चला गया जबकि पीडि़ता अपने घर। जालसाज ने कुछ दिनों में परिजनों से बात कर उसे अपने घर बुलाने का वादा किया था। अब बदमाश ने लड़की को साथ रखने से इनकार कर दिया है। पुलिस में जाने पर उसके अदित किए अश्लील फोटो और वीडियो वायरल करने की धमकी दे रहा है। मामले की शिकायत फरियादिया ने शहडोल में दर्ज कराई थी। वहां की पुलिस ने जीरो पर कायमी कर केस डायरी को भोपाल भेज दिया है। पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है।