समर्थकों के साथ बैठक के बाद लिया निर्णय

भाजपा पार्टी से पूर्व विधायक जीतेन्द्र डागा आगामी विधानसभा चुनावों में मैदान में उतरेंगे या नहीं इसको लेकर पिछले कई दिनों से अटकलें लगाई जा रही थी और डागा के चुनाव लडऩे पर संशय भी बना हुआ था अंतत: वो संशय के बादल हट गए है ओर डागा ने चुनाव लडऩे का मन बना लिया है भाजपा से टिकट नहीं मिलने के बाद उनकी कांग्रेस पार्टी में शामिल होने की भी खासी चर्चाएं रही इसके लिए वरिष्ठ नेताओं से भी डागा ने संपर्क कर रखा था। अंत में कांग्रेस में भी शामिल नहीं हुए। अब उन्होनें अपने समर्थकों व ग्रामीण क्षेत्र की जनता की मांग को देखते हुए चुनाव लडऩे का मन बना लिया है सोमवार दोपहर को डागा हाउस पर हुई एक कार्यकर्ताओं की बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया है डागा के चुनाव मैदान पर उतरते ही अब हुजूर सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला होने की उम्मीद जताई जा रही है इस सीट से जहां भाजपा ने दूसरी बार रामेश्वर शर्मा को प्रत्याशी बनाया है वहीं उनके मुकाबले कांग्रेस के नरेश ज्ञानचंदानी को टिकट देकर मौका दिया है जिन्हें कमजोर प्रत्याशी माना जा रहा है अगर ऐसे में डागा निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ते है तो चुनाव संघर्षपूर्ण हो जाएंगे और यह मुकाबला एक तरफा नहीं बल्कि त्रिकोणीय हो जाएगा। वर्ष 2008 में हुए त्रिकोणीय मुकाबले की याद ताजा हो जाएगी। उस समय भाजपा से जीतेन्द्र डागा चुनाव लड़े थे और कांग्रेस से राजेन्द्र मीणा व निर्दलीय के रूप में भगवानदास सबनानी मैदान में उतरे थे सोमवार को हुई बैठक में विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों के ग्रामीण वासी शामिल होने आये थे। डागा को जीत का भरोसा भी दिलाया। डागा ने भी कहा की में जनता के लिए ही मैदान में आ रहा हूं। जो करना है जनता को करना है में हमेशा इनके साथ हूं।

इनके नामांकन फॉर्म हुए निरस्त

हुजूर विधानसभा सीट से जिन उम्मीदवारों ने नामांकन फॉर्म जमा किए थे जिनकी जांच के बाद निरस्त किया गया है इसमें प्रमुख रूप से मुन्नी यादव, राजेन्द्र सिंह मीना, राजू पाटीदार, महेश कुमार, जीवन यादव, देवेन्द्र दांडगे, डॉ नीता सिंह, कंचनसिंह चौहान, कमलेश नामदेव, दशरथ सिंह यादव, रघुवीर सिंह मीना, प्रनब चंद, फरीद खां शामिल है।

44 नामांकन फॉर्म में से 19 निकले सही

हुजूर विधानसभा सीट से नामांकन फॉर्म जमा करने के अंतिम दिन कुल 30 उम्मीदवारों द्वारा 44 नामांकन फॉर्म जमा किए गए थे। जिनकी जांच शनिवार तक पूरी की जानी थी। जो रिटार्निंग आफिसर द्वारा की गई जो शाम तक पूरी हो गई। इसमें 19 अत्नयार्थियों के नामांकन फॉर्म सही पाये गए है ऐसे में 11 अत्नयर्थियों के नामांकन फॉर्म विभिन्न कारणों से रिजक्ट हो गए। जो फॉर्म सही पायें गए है उसमें नरेश ज्ञानचंदानी, रामेश्वर शर्मा, डी के सिरसवल, राजीव वर्मा, राजू पाटीदार, राधा, रामसुशील शर्मा, रीना सक्सेना, प्रतिपाल सिंह, प्रवीण श्रीवास्त, संभव कुमार जैन, इस्मेल पवार, कविता सिंह, जीतेन्द्र डागा, मोहन मीना, राजेन्द्र सिहं मीना, विष्णु विश्वकर्मा, श्याम सिंह मीना, सुनील डोडेजा शामिल है।

नाम वापसी का कल अंतिम दिन

नामांकन फॉर्म की जांच उपरांत अब नाम वापस लेने के लिए 14 नवंबर बुधवार को अंतिम दिन रहेगा। जिसके बाद स्थिति साफ हो जायेगी। कि कितने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरते है इसमें में से कुछ उम्मीदवारों द्वारा जो नामांकन फॉर्म जमा करवाया है वो नाम वापस लेंगे इसमें विष्णु विश्वकर्मा व श्याम सिंह मीणा शामिल है इसके अलावा अन्य अभ्यार्थी भी नाम वापस ले सकते है।