भोपाल : राजधानी जीआरपी को गुजरात (लट्ठा कांड) के ऐसे शातिर बदमाश को पकडऩे में कामयाबी मिली है जिस पर जहरीली शराब पिलाकर 23 लोगों को मार डालने का आरोप है। बदमाश अहमदाबाद की साबरमती केंद्रीय जेल से पैरोल से रिहा होने के बाद फरार चल रहा था। इसके बाद उसने ट्रेनों के एसी कोच में चोरी करना शुरू कर दिया। जीआरपी को आरोपी योगेंद्र ने बताया है कि वो अहमदाबाद में देशी शराब बनाकर बेचने का धंधा करता था। इस शराब को पीने से 23 लोगों की मौत हो गई। इस मामले में उसके खिलाफ अहमदाबाद के कडियापीठ थाने में मामला दर्ज हुआ था। गिरफ्तारी के बाद वो 9 साल तक साबरमती सेंट्रल जेल में अपने साथियों के साथ कैद में रहा। इस दौरान अस्थाई पैरोल पर कई बार बाहर आया। 2017 में उसने एक बार फिर पैरोल लिया और इंदौर आकर छिपकर रहने लगा।