निगम आयुक्त ने जारी किए आदेश, अब निगम उठवाएगा मलबा

नगर प्रतिनिधि,संतनगर : भारत सरकार के पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा निर्माण एवं विहवंश अपशिष्ट के संबंध में वर्ष २०१६ से जारी निर्देशों के परिपेक्ष्य में नगर निगम भोपाल के आयुप्तत अनिवाश लवानिया ने आदेश जारी कर निम्राुसार प्रावधान किया है। जिसके तहत अब नगर निगम घर व दुकान निर्माण के दौरान मलबा उठवाएगा जिसके लिए राशि तय की गई है। यही नहीं बिल्डिंग मटेरियल की सामग्री अगर सड़क पर खुले रूप से पाई जाती है तो नगर निगम ५ हजार रूपयें का जुर्माना वसुलेगा। इसके सप्लायर व निर्माणकर्ता दोनों ही शामिल है इसकी जिम्मेदारी सभी जोनों के जोनल अधिकारी व स्वच्छता प्रभारी को सौपीं गई है। अगर आप मकान बना रहे है या रिनोवेशन करा रहे है तो इस दौरान निकले वाले कंस्ट्रप्तशन एंड डिमालिशन वेस्ट को इधर उधर न फेंके बल्कि नगर निगम के सहायक स्वास्थ्य अधिकारी को फोन लगाकर उसे उठवा दें। नगर निगम ने यह सुविधा शुरू की है। एक ट्रक सीएडडी वेस्ट उठाने के एवज में निगम १५०० रूपए लेगा यही नहीं, जरूरत होने पर निगम ५०० रूपए में एक सीएडडी वेस्ट उपलब्ध भी कराएगा। जबकि यही सींएडडी वेस्ट इधर उधर फेंकने पर नगर निगम अमला तीन हजार रूपए जुर्माना वसूलेगा। निगम आयुप्तत ने बुधवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए है। यही नही शहर में आने वाले रेत और मिट्टी के ट्रको को ढक्क कर चलाने के निर्देश भी दिए गए है ऐसा नहीं करने वाले ट्रक संचालकों पर निगम का अमला पांच हजार रूपए तक का जुर्माना लगायेगा। उप्तत कार्रवाई की जिम्मेदारी निगम प्रशासन ने क्षेत्रीय जोनल अधिकारी और एएचओ को दी गई है। जारी आदेश में यह भी स्पष्ट किया गया है कि किसी भी सूरत में सड़क और सड़क किनारे बिल्डिंग मटेरियल रखकर होने वाली बिक्री पर रोक लगाई जाए। यह आदेश एनजीटी के आदेश के पालन के तारतम्य में जारी किया गया है।