मेहमान महाराजा कॉटेज में शाही सुख-सुविधाओं का उठा पाएंगे आनंद

नई दिल्ली, एजेंसी : रेलवे ने अगले साल जनवरी में प्रयागराज में आयोजित होने वाले कुंभ मेले के लिए 41 परियोजनाएं शुरू की हैं, जिनपर 700 करोड़ रुपये की लागत आएगी। रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को बताया कि 41 परियोजनाओं में से 29 पूरी हो चुकी हैं। अन्य अंतिम चरण में हैं तथा जल्द पूरी होने वाली हैं। उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने एक प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि इलाहाबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन पर चार बड़े अहातों का निर्माण किया गया है जिनमें 10,000 तीर्थयात्रियों को विभिन्न सुविधाएं प्रदान की जा सकती हैं। इनमें वेडिंग स्टॉल, पानी के बूथ, टिकट काउंटर, एलसीडी टीवी, सीसीटीवी, महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग- अलग शौचालय होंगे। इसी तरह से अन्य स्टेशनों पर भी यात्री अहाते बनाए गए हैं।

कुंभ में संगम के तट पर जिएं महाराजा जैसी जिंदगी

यूपी के प्रयागराज कुंभ में आने वाले मेहमान महाराजा कॉटेज में शाही सुख- सुविधाओं का आनंद उठा पाएंगे। इंपोर्टेड कैनवस से बने इन वॉटर प्रूफ तंबुओं में एसी, आलीशान सजावट और वेस्टर्न स्टाइल की टॉइलट समेत तमाम आधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं। यहां आपको फाइव स्टार होटलों जैसी सुविधाएं मिलेंगी। इन तंबुओं में 24 घंटे पावर सह्रश्वलाई, वाई-फाई सुविधा के साथ-साथ इंडियन और कॉन्टीनेंटल वेजिटेरियन भोजन भी मिलेगा। एक अधिकारी ने बताया, उत्तर प्रदेश स्टेट टूरिज्म डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन (यूपीएसटीडीसी) जवाहर लाल नेहरू रोड, परेड, सेक्टर 1 मेला कैंपस में 20 महाराजा स्विस कॉटेज, 30 डीलक्स स्विस कॉटेज बना रहा है। अधिकारी के मुताबिक इनमें ठहरने वाले मेहमानों को नाश्ता, लंच और डिनर उपलब्ध कराया जाएगा। महाराजा स्विस कॉटेज और डीलक्स स्विस कॉटेज का एक दिन का किराया क्रमश: 18,000 और 9,000 रुपये होगा। कॉटेज में ठहरने वाले मेहमानों को फाइव स्टार होटलों जैसी सुविधाएं मिलेंगी।