टीचर्स यानी शिक्षकों के मामले में बचपन से लेकर आज तक आपके अलग-अलग अनुभव होंगे। कई टीचर्स की डांट और मार के कारण आप उन्हें आज भी बुरा मानते होंगे और कई टीचर्स के प्यार और नॉलेज के कारण आप आज भी उन्हें याद करते होंगे। आप मानें न मानें मगर टीचर्स नर्म रहे हों या सख्त, आपके जीवन में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है और हमेशा रहेगा। शिक्षक दिवस या टीचर्स डे हर साल 5 सिंतबर को मनाया जाता है। आइए आपको बताते हैं स्टूडेंट्स और टीचर्स के रिश्ते की वो बातें, जो इस रिश्ते को बेहद खास बनाती हैं।

आपको विचार सिखाते हैं अच्छे टीचर्स

पैदा होने के साथ ही आपके दिमाग में सोचने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। घर-परिवार, मां-बाप, भाई-बहन के बीच रहकर आपको ढेर सारी व्यवहारिक बातों की जानकारी हो जाती है मगर वैज्ञानिक दृष्टिकोण के लिए आपके मां-बाप आपको स्कूल भेजते हैं। क्लास में सिलेबस के अलावा तरह-तरह की गतिविधियों के द्वारा आपके टीचर आपको विचार करना सिखाते हैं।

अच्छे स्टूडेंट के नाते आपको भी अपने मनपसंद टीचर से सिलेबस के अतिरिक्त बातें करनी चाहिए। उनके अनुभवों को जानना चाहिए और पढ़ाई-लिखाई के दौरान आने वाली व्यवहारिक समस्याओं के बारे में बात करनी चाहिए।

आपकी क्षमताओं को पहचानते हैं अच्छे टीचर्स

अच्छे टीचर का एक गुण ये है कि वो आपकी क्षमताओं को पहचानते हैं। हालांकि ये अनुभव टीचर्स को लंबे समय में आता है। क्लास के दौरान आपकी एक्टिविटीज पर नजर रखते हुए अक्सर टीचर आपके स्वभाव और आपके मिजाज को समझने लगते हैं। इसी से टीचर को ये अंदाजा हो जाता है कि आपके लिए कौन सा विषय या कौन सा कैरियर बेहतर है।

एक अच्छे स्टूडेंट के नाते आपको चाहिए कि आप अपने टीचर्स से बेहतर कैरियर और बेहतर जिंदगी के बारे में जरूरी टिप्स लें। जाहिर है टीचर का अनुभव आपसे ज्यादा होगा इसलिए उनकी राय जरूर जान लेनी चाहिए।

आपके टैलेंट को निखारते हैं अच्छे टीचर

हर बच्चे में कुछ नैचुरल टैलेंट होते हैं, जिन्हें समय के साथ विकसित करना जरूरी होता है अन्यथा ये टैलेंट कुंद पड़ जाता है। अच्छे टीचर्स अपने स्टूडेंट्स के इस नैचुरल  टैलेंट को न सिर्फ उन्हें समझने में मदद करते हैं बल्कि उसे निखारने के लिए मौके भी देते हैं। स्कूल में होने वाली तमाम गतिविधियों के द्वारा धीरे-धीरे टीचर्स को बच्चों के अंदर छिपी प्रतिभा को दिखाने का मौका देना चाहिए।

एक अच्छे स्टूडेंट के नाते आपका भी यही कर्तव्य है कि जब कभी टीचर्स आपको आपकी प्रतिभा दिखाने का मौका दें, आप उन्हें निराश न करें।

जिम्मेदार बनाते हैं अच्छे टीचर

अच्छे टीचर का एक गुण यह भी है कि वो आपको जिम्मेदार बनाता है। होमवर्क न करके जाने पर जब टीचर आपको थोड़ा सा डांट देते थे, तो उसका कारण यही था कि आप धीरे-धीरे अपनी जिम्मेदारियों को समझना शुरू करें। उम्र के अनुसार हर इंसान की जिम्मेदारियां बदलती रहती हैं। टीचर्स आपको धीरे-धीरे इसी बात का अभ्यस्त बनाते हैं कि आप अपनी जिम्मेदारियों को समझें और उनके लिए जवाबदेह बनें।

एक अच्छे स्टूडेंट की भी यही पहचान है कि वो अपनी जिम्मेदारियों को समझे और उन्हें पूरा करे।  अपने फैसलों के सही-गलत का जवाबदेह होना भी एक जिम्मेदार व्यक्तित्व की पहचान है।